Explore Jharkhand : झारखण्ड के बारे में जानकारी।

 झारखंड, व्यापार के अवसरों से लेकर सांस्कृतिक खजाने तक

baidyanath dham
Baidyanath Dham, Deoghar Jharkhand


परिचय

झारखंड भारत के पूर्वी भाग में स्थित एक राज्य है, जो अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और प्राकृतिक संसाधनों के लिए जाना जाता है।राज्य जनजातियों और समुदायों की एक विविध आबादी का घर है, प्रत्येक के अपने अद्वितीय रीति-रिवाज और परंपराएं हैं।इस ब्लॉग पोस्ट में, हम झारखंड की कुछ प्रमुख विशेषताओं का पता लगाएंगे, जिसमें इसका भूगोल, इतिहास, संस्कृति और अर्थव्यवस्था शामिल है।

भूगोल

झारखंड 79,710 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है और इसकी सीमा बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ राज्यों से लगती है।राज्य छोटा नागपुर पठार पर स्थित है, जो अपने समृद्ध खनिज संसाधनों जैसे कोयला, लौह अयस्क और बॉक्साइट के लिए जाना जाता है।झारखंड में विविध प्रकार के परिदृश्य भी हैं, जिनमें घने जंगल, पहाड़ियाँ और झरने शामिल हैं। राज्य कई राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभ्यारण्यों का भी घर है, जैसे प्रसिद्ध बेतला राष्ट्रीय उद्यान और सुंदर दसम जलप्रपात।

इतिहास

जो क्षेत्र अब झारखंड है, उसका प्राचीन काल से ही समृद्ध इतिहास रहा है। 16 वीं शताब्दी में मुगलों द्वारा विजय प्राप्त करने से पहले मौर्य और गुप्त जैसे कई राजवंशों द्वारा इस पर शासन किया गया था।
झारखंड भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का एक महत्वपूर्ण केंद्र भी था, जिसमें सरदार पटेल और राजेंद्र प्रसाद जैसे कई नेता स्वतंत्रता के संघर्ष में शामिल थे। झारखंड राज्य का आधिकारिक रूप से गठन 2000 में हुआ था, जब इसे बिहार राज्य से अलग कर बनाया गया था।

संस्कृति

झारखंड की संस्कृति विविध है और राज्य के समृद्ध इतिहास और परंपराओं को दर्शाती है। राज्य कई जनजातियों जैसे संथाल, हो और मुंडा का घर है, जिनमें से प्रत्येक की अपनी अनूठी रीति-रिवाज और परंपराएं हैं। झारखंड अपनी समृद्ध लोक संस्कृति के लिए भी जाना जाता है, जो इसके संगीत, नृत्य और कला में परिलक्षित होता है। झारखंड के कुछ लोकप्रिय लोक नृत्यों में कर्मा, झूमर और छऊ शामिल हैं। राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्शित करने वाले सरहुल, कर्मा और टुसू जैसे त्योहार बड़े उत्साह के साथ मनाए जाते हैं।

आकर्षण

झारखंड के प्रमुख आकर्षणों में से एक इसके राष्ट्रीय उद्यान और वन्यजीव अभयारण्य हैं। बेतला राष्ट्रीय उद्यान, जिसे पलामू टाइगर रिजर्व के रूप में भी जाना जाता है, वन्यजीव उत्साही लोगों के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य है। यह कई प्रकार के जानवरों जैसे बाघ, हाथी और तेंदुए के साथ-साथ पक्षियों की कई प्रजातियों का घर है। झारखंड के अन्य लोकप्रिय वन्यजीव अभ्यारण्यों में हजारीबाग राष्ट्रीय उद्यान और लावालोंग वन्यजीव अभयारण्य शामिल हैं।

एडवेंचर चाहने वालों के लिए, झारखंड रॉक क्लाइम्बिंग, ट्रेकिंग और पैराग्लाइडिंग जैसे कई विकल्प प्रदान करता है। कुछ लोकप्रिय ट्रेकिंग स्थलों में पारसनाथ हिल और रजरप्पा मंदिर शामिल हैं। रजरप्पा मंदिर अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और प्राचीन स्थापत्य विरासत के लिए भी प्रसिद्ध है, जो भगवान शिव को समर्पित है।

झारखंड इतिहास के शौकीनों के लिए कई तरह के विकल्प भी प्रदान करता है। राज्य में कई प्राचीन मंदिर और स्मारक हैं, जैसे जगन्नाथ मंदिर और रजरप्पा मंदिर, जो महान ऐतिहासिक और स्थापत्य महत्व के माने जाते हैं। ये स्थान न केवल राज्य के लिए बल्कि देश के लिए भी महत्वपूर्ण हैं और यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थलों के रूप में नामित किए गए हैं।

झारखंड की संस्कृति में रुचि रखने वालों के लिए राज्य में लोक संगीत, नृत्य और कला की समृद्ध परंपरा है। आगंतुक सरहुल, कर्मा और टूसू जैसे त्योहारों के माध्यम से झारखंड की पारंपरिक संस्कृति का अनुभव कर सकते हैं, जो बड़े उत्साह के साथ मनाए जाते हैं।

अर्थव्यवस्था

झारखंड अपने समृद्ध खनिज संसाधनों के लिए जाना जाता है, और खनन उद्योग राज्य की अर्थव्यवस्था में एक प्रमुख योगदानकर्ता है।राज्य स्टील, सीमेंट और बिजली जैसे कई उद्योगों का भी घर है, जो प्राकृतिक संसाधनों की प्रचुरता से समर्थित हैं।संतुलित क्षेत्रीय विकास को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार अर्थव्यवस्था के अन्य क्षेत्रों जैसे पर्यटन, कृषि और लघु उद्योगों को विकसित करने के लिए प्रयास कर रही है।

निष्कर्ष

झारखंड एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और प्राकृतिक संसाधनों वाला राज्य है जिसमें विकास की अपार संभावनाएं हैं। इसका इतिहास, संस्कृति और अर्थव्यवस्था इसे एक्सप्लोर करने के लिए एक अनूठा और दिलचस्प गंतव्य बनाती है।


बुनियादी राज्य तथ्य विवरण
राज्य का दर्जा कब मिला 15 नवंबर 2000
राजधानी रांची
जिले की संख्या 24
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू
मुख्यामंत्री हेमंत सोरेन
उच्च न्यायालय झारखण्ड उच्च न्यायालय
मुख्य न्यायाधीश: जस्टिस डॉ.रवि रंजन
विधान सभा के सदस्य की संख्या 81
लोक सभा सीटों की संख्या 14
राजसभा सीटों की संख्या 06

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.